Category: लघुकथा

ओमप्रकाश कश्यप की लघुकथाएँ

देवता का भय भीषण दरिद्रता, भूख–प्यास, गरीबी देखकर अकुलाए एक भलेमानुष ने दुनिया बचाने की ठान ली। समाधान की खोज में चलता–चलता वह क्षीर–सागर तक पहुंचा. आंखों के सामने दूध का समंदर लहराते देख उसके आनंद का पारावार न रहा— ‘यहां मेरी चिंताओं का समाधान संभव…Read More »