Category: कहानी

दाम्पत्य

काव,काव,काव! आम के पेड़ पर बैठकर काला कौवा बोल रहा था। जल्दी से बिस्तर से उठकर बैठ गई शांति। पीछे वाला दरवाजा खोला। अभी तक सूर्योदय नहीं हुआ था, मगर पूर्व दिशा का आसमान लाल दिखने लगा था। चिड़ियां कलरव करते हुए अपने घोंसले से…Read More »